Monday, September 26, 2022
Home BOLLYWOOD रवीना टंडन के नाम से बनाई गई फर्जी सैटेलाइट टीवी

रवीना टंडन के नाम से बनाई गई फर्जी सैटेलाइट टीवी

इस वेब पेज का इस्तेमाल कर मुंबई पुलिस आयुक्त के खिलाफ आपत्तिनक टिप्पणी और तस्वीर पोस्ट करने के लिए किया गया था।

अभिनेत्री रवीना टंडन के नाम से निर्मित फर्जी टेलीकॉम फिल्म बोट (बीओटी) है। इस वेब पेज का इस्तेमाल कर मुंबई पुलिस आयुक्त के खिलाफ आपत्तिनक टिप्पणी और तस्वीर पोस्ट करने के लिए किया गया था। अभिनेत्री की शिकायत के बाद जांच के दौरान यह खुलासा हुआ है।

पुलिस के मुताबिक बोट अकाउंट वो हैं, जिनमें तकनीक की मदद से एक साथ हजारों की संख्या में बनाया जाता है। किसी इंसान के लिए इतने दिनों का इस्तेमाल करना संभव नहीं होता इसलिए इसे कंप्यूटर (बोट्स) के माध्यम से चला जाता है और यह अपने आप कुछ मिनटों में हजारों ट्वीट सॉफ्टवेयर कमेंट करते हैं। बॉट एक सॉफ्टवेयर है जो फ्लाइट अकाउंट को टेलीकॉम के जरिए संचालित करता है। कुछ लोग इस तकनीक का गलत तरीके से इस्तेमाल करते हैं और पैसे के बारे में विशेष विषय पर कुछ ही मिनट में हजारों ट्वीट करते हैं। ऐसे 50 लाख से ज्यादा ट्वीट हर महीने किए जाते हैं।

पुलिस के मुताबिक सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में भी इस तकनीक का काफी दुरुपयोग किया गया और मुख्यमंत्री कार्यालय, आदित्य ठाकरे, संजय राऊत, परमबीर सिंह को निशाना साधते हुए हजारों ट्वीट किए गए। इसके अलावा बेबी पेंग्विन, जस्टिस फॉर सुशांत सिंह राजपूत, परमबीर सिंह घोटाला, परमबीर सिंह रिजाइन, टीआरपी स्कैम, अरेंट परमबीर जैसे दर्जनों हैशटैग ट्रैन्ड करने के लिए बस्ती अकाउंट के इस्तेमाल किए गए।

डेढ़ लाख से ज्यादा फर्जी खाते हैं

साइबर और फोरेंसिक विशेषज्ञों की टीम ने इस बाबत मुंबई पुुलिस को जो रिपोर्ट सौंपी है उसके मुताबिक इस साल जून से अक्टूबर के बीच महाराष्ट्र सरकार, मुंबई पुलिस और मुंबई पुलिस कमिश्नर के खिलाफ ट्रेंड के लिए बोट अकाउंट और हैशशैग का इस्तेमाल किया गया है। साइबर विशेषज्ञों को ऐसे डेढ़ लाख खातों के बारे में पता चला है जिनमें से से प्रति परिधि प्रासंगिक हैं। जिनका इस्तेमाल महाराष्ट्र सरकार, मुंबई पुलिस को बदनाम करने के लिए हुआ। इनमें से कई खाते विदेश से चलाए जा रहे हैं। पुलिस के मुताबिक इसके लिए कई होने वाले मानी हस्तियों के नामों का चोरी छिपे या उनका सहमति से भी इस्तेमाल किया जा रहा है।