Friday, February 3, 2023
Home POLITICS नितिन गडकरी- भारत आत्मनिर्भर बन रहा है, चीन से निपटने की जरूरत...

नितिन गडकरी- भारत आत्मनिर्भर बन रहा है, चीन से निपटने की जरूरत नहीं है

देश को आत्मनिर्भरता हासिल करने में मदद करने में सूक्ष्म, लघु और मध्यम ठंडों की भूमिका उजागर करते हुए कहा कि भारत को चीन से आयात करने की जरूरत नहीं है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एक्स बढ़ाने और देश को आत्मनिर्भरता हासिल करने में मदद करने में सूक्ष्म, लघु और मध्यम ठंडों की भूमिका उजागर करते हुए कहा कि भारत को चीन से आयात करने की जरूरत नहीं है।

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा, ” वाहन क्षेत्र में पहले ही और कृषि जैसे कई अन्य क्षेत्रों में भी हम हर जगह पहले ही समाधान प्राप्त कर चुके हैं। अब हमें चीन से आयात करने की जरूरत नहीं है। ”

भारत अब बहुत सारे सामानों का निर्यात कर रहा है

गडकरी ने कहा कि भारत बहुत सारे सामानों का आयात करने के बजाय निर्यात कर रहा है। उन्होंने कहा, ” अत: मैं चीन या किसी अन्य चीज के बारे में कोई बात नहीं करना चाहता हूं।

हर देश की अपनी नीति होती है। जहां तक ​​भारतीय नीतियों का सवाल है, हम प्रौद्योगिकी को अपना रहे हैं, लागत को लेकर रहे हैं और अच्छी गुणवत्ता के उत्पाद बना रहे हैं। हमारी शक्ति युवा प्रतिभावान श्रमबल है, जो यहां उपलब्ध है। ”

विनिर्माण क्षेत्र के पास निर्यात को प्रोत्साहन देने का अवसर

मंत्री ने इस बात का भी भरोसा जाहिर किया कि भारत को कोविड -19 का केक ‘जितनी जल्दी संभव होगा’ मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही हम महामारी को नियंत्रित करेंगे और ‘आर्थिक युद्ध’ में जीत हासिल करेंगे।

उन्होंने कहा कि ऐसे में देश के विनिर्माण क्षेत्र के पास अपनी क्षमता बढ़ाने और देश से निर्यात को प्रोत्साहन देने का अवसर है।

1.48 लाख करोड़ रुपये का लोन सूची

गडकरी ने बताया कि केंद्र की ओर से कंपनियों के लिए घोषित बिना सुनिश्चित तीन लाख करोड़ रुपये के ऋण में से 1.48 लाख करोड़ रुपये का वितरण किया जा चुका है।

मंत्री ने कहा, ” हमने चीन से अपना दोष भया है। एक्स भी बढ़ रहा है। अभी तक का रुख सकारात्मक है और मुझे इस क्षेत्र में अच्छे नतीजों की उम्मीद है। ” उन्होंने कहा कि आर्थिक संकट के बावजूद सूक्ष्म, लघु और मझोलाकिंग (एमएसएमई) क्षेत्र अच्छा काम कर रहा है।

इस योजना के तहत एमएसमएई इकाइयां, व्यवसायीकरण, व्यवसायों के उद्देश्य से व्यक्तिगत ऋण और मुद्रा ऋण लेने वाले ऋण ले सकते हैं।