Thursday, October 6, 2022
Home CRICKET NEWS हार का क्रम तोड़ने उतरेगी चेन्नई, वार्नर के हैदराबाद से आज मिलेगी...

हार का क्रम तोड़ने उतरेगी चेन्नई, वार्नर के हैदराबाद से आज मिलेगी कड़ी चुनौती..

महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स शुक्रवार को आईपीएल के 14वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत दर्ज कर हार का क्रम तोड़ना चाहेगी।

महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपरकिंग्स शुक्रवार को आईपीएल के 14वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत दर्ज कर हार का क्रम तोड़ना चाहेगी। चेन्नई ने उद्घाटन मुकाबले में गत चैंपियन मुंबई इंडियंस को हराकर धमाकेदार आगाज किया था। दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशिरों में से एक धोनी की कप्तानी में यह टीम की रिकॉर्ड सौवीं जीत थी। उसके बाद टीम ने लगातार दोनों मैच हारे। 

अनुभवी खिलाड़ियों की भरमार के बावजूद टीम जीत से दूर रह रही है। दूसरी तरफ डेविड वार्नर की हैदराबाद ने दो मैचों की हार के बाद जीत का स्वाद चखा है। केन विलियम्सन के आने से टीम मजबूत हुई है। टीम अपनी लय बरकरार रखना चाहेगी। 


दोनों का मध्यक्रम संतुलित नहीं : 
चेन्नई और सनराइजर्स को शुरू से ही सबसे संतुलित माना जाता रहा है लेकिन इस बार दोनों टीमों को पहले तीन मैचों में से दो में हार का सामना करना पड़ा। इसका मुख्य कारण उनके मध्यक्रम का संतुलित नहीं होना है। 
रायुडू व ब्रावो देंगे चेन्नई को मजबूती : 
अंबाती रायुडू और ड्वेन ब्रावो के फिट होने से चेन्नई और मजबूत हुई है। पहले मैच में टीम के जीत के हीरो रहे रायुडू मांसपेशियों के खिंचाव के कारण दो मैचों में नहीं खेल पाए। रायुडू ने पहले मुकाबले में 71 रन की पारी खेली थी। वहीं ब्रावो कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) के दौरान चोटिल हो गए थे। वह इस सत्र में पहली बार खेलेंगे। चेन्नई के सीईओ केएस विश्वनाथन ने कहा, ‘रायडू और ब्रावो दोनों चयन के लिए उपलब्ध हैं।’

मुरली हो सकते हैं बाहर : 
रायडू के फिट होने का मतलब है कि उन्हें खराब फॉर्म में चल रहे मुरली विजय की जगह लिया जा सकता है। ब्रावो के मामले में ऐसा नहीं कहा जा सकता है। उनको अंतिम एकादश में लेने के लिए धोनी को पूरे बल्लेबाजी क्रम में ही बदलाव करना पड़ेगा। 

जाधव की खराब फॉर्म चिंता का सबब : 
केदार जाधव की खराब फॉर्म निश्चित तौर पर धोनी के लिए चिंता का सबब होगी। उनकी जगह लेने के लिए टीम में कोई उचित विकल्प नजर नहीं आता है। ब्रावो की जगह सैम करन को लिया गया था। उन्होंने अभी तक चेन्नई की तरफ से पहले तीन मैचों में अपनी गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों से प्रभावित किया है। ब्रावो को टीम में रखने के लिए धोनी को शेन वॉटसन या जोश हेजलवुड में से किसी एक को बाहर रखना होगा। 

गेंदबाज साबित हो रहे महंगे: 
चेन्नई की गेंदबाजी भी कमजोर कड़ी साबित हो रही है। अनुभवी रविंद्र जडेजा (2/126, 3 मैच), पीयूष चावला (4/109, 3 मैच) और दीपक चाहर (3/101, 3 मैच) खर्चीले साबित हो रहे हैं। ऑलराउंडर सैम करन (5/88, 3 मैच) ही शानदार प्रदर्शन कर पाए हैं।