Thursday, October 6, 2022
Home POLITICS संसद सत्र के दौरान कोरोना से बचाव की वेंकैया ने की समीक्षा,...

संसद सत्र के दौरान कोरोना से बचाव की वेंकैया ने की समीक्षा, कहा- सांसदों को हर जगह दी जाए सुरक्षा

नायडू ने अधिकारियों से सांसदों के संसद की कार्यवाही में भाग लेने आवागमन और दिल्ली में रहने के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं पर सवाल किए।

संसद के मानसून सत्र के मद्देनजर राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने सोमवार को कोरोना वायरस के बचाव के उपायों पर आइसीएमआर के महानिदेशक, गृह और स्वास्थ्य मंत्रालयों के सचिवों तथा रक्षा अनुसंधान से जुड़े शीर्ष अधिकारियों से वार्ता की। संसद का मानसून सत्र 14 सितंबर से शुरू होकर एक अक्टूबर तक चल सकता है। सभापति वेंकैया नायडू ने सचिवालय को निर्देश दिया है कि सत्र के दौरान कम से कम लोगों की संसद भवन में आमद होने दी जाए।

नायडू ने अधिकारियों से सांसदों के संसद की कार्यवाही में भाग लेने, आवागमन और दिल्ली में रहने के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं पर सवाल किए। पूछा कि सांसदों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए प्रशासन की क्या रूपरेखा है। संसद सत्र में भाग लेने के बाद गृह राज्य जाने पर सांसदों को किस तरह से क्वारंटाइन किया जाएगा और उनकी स्वास्थ्य सुरक्षा के क्या इंतजाम होंगे, नायडू ने अधिकारियों से जानकारी मांगी। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के अधिकारियों से वार्ता कर इस बारे में ठोस रूपरेखा तैयार की जाएगी। अधिकारियों से विस्तृत वार्ता में नायडू ने कहा, कोई भी सांसद कोरोना टेस्ट से छूटने न पाए। इतना ही नहीं सांसद के स्टाफ के सदस्यों और परिजनों की भी नियमित जांच की जाए। संक्रमण की आशंका को कम से कम किया जाए।