Friday, December 2, 2022
Home POLITICS पार्टी में 'खेल' को रोकेगा क्रिकेट का जानकार, हाईकमान को राजीव से...

पार्टी में ‘खेल’ को रोकेगा क्रिकेट का जानकार, हाईकमान को राजीव से हिमाचल की सत्ता में वापसी की उम्मीद

Himachal Congress Incharge Rajiv Shukla टीम-23 के विरोधी स्वरों के बाद गांधी कुनबा न केवल सतर्क हुआ है बल्कि अति भरोसेमंद एवं विश्वास पात्रों को राज्यों में बिठाना शुरू कर दिया।

टीम-23 के विरोधी स्वरों के बाद गांधी कुनबा न केवल सतर्क हुआ है, बल्कि अति भरोसेमंद एवं विश्वास पात्रों को राज्यों में बिठाना शुरू कर दिया है। उसी कड़ी में एक विश्वासपात्र रजनी पाटिल को जम्मू-कश्मीर की बागडोर सौंपी है तो हिमाचल प्रदेश में राजीव शुक्ला की नियुक्ति कर सत्ता में वापसी की उम्मीद के साथ भेजा है। यह तय हो गया है कि क्रिकेट का यह जानकार अब प्रदेश कांग्रेस में अंदरूनी ‘खेल’ को रोकेगा और टीम को मजबूत करेगा।

यूं भी दो दशकों से राज्य की सियासत क्रिकेट के इर्द-गिर्द घूमती रही है। अब कांग्रेस ने क्रिकेट की सियासत करने वाला धुरंधर खिलाड़ी भेजा है। जिसे पता है कि कब और किस तरह से खेल को खेलना है। क्योंकि आइपीएल के फटाफट क्रिकेट में रोमांच को राजीव शुक्ला खूब समझते हैं। 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं और शुक्ला को उससे पहले कांग्रेस में जीत का जज्बा पैदा करना होगा। इससे पहले शुक्ला 2014 में भी कुछ समय के लिए प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी रह चुके हैं।

पंजाब कांग्रेस प्रभारी पद से दिग्गज आशा कुमारी की छुट्टी तो हुई, लेकिन सीडब्ल्यूसी में भी जगह नहीं रही। आनंद शर्मा गांधी परिवार की किचन कैबिनेट के सदस्य समझे जाते हैं, लेकिन संगठन चुनाव करवाने की मांग करने वाले विरोधियों में दूसरे स्थान पर वही थे। फिलहाल सीडब्ल्यूसी में तो उनकी जगह बनी हुई है, लेकिन माना जा रहा है कि आने वाले समय में वहां से भी छुट्टी हो सकती है।