Friday, September 23, 2022
Home POLITICS नए गुल खिला सकती है फड़नवीस और राउत की मुलाकात..

नए गुल खिला सकती है फड़नवीस और राउत की मुलाकात..

एक पांच सितारा होटल में शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस एवं शिवसेना नेता संजय राउत के बीच डेढ़ घंटे तक बैठक हुई। इसके बाद फड़नवीस के करीबी नेता प्रवीण दरेकर ने यह कहकर हलचल बढ़ा दी है कि राजनीति में कुछ भी हो सकता है।

एक पांच सितारा होटल में शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस एवं शिवसेना नेता संजय राउत की डेढ़ घंटे की मुलाकात ने कयासों का बवंडर खड़ा कर दिया है। हालांकि, राउत एवं भाजपा दोनों की तरफ से इस मुलाकात के राजनीतिक निहितार्थ नहीं निकालने की बात कही गई है। लेकिन, फड़नवीस के करीबी नेता प्रवीण दरेकर ने यह कहकर कयासों को बल दिया है कि राजनीति में कुछ भी हो सकता है। राउत और फड़नवीस की मुलाकात डेढ़ घंटे से अधिक चली।

मुलाकात से पहले इसकी सूचना दोनों दलों की ओर से गुप्त रखी गई थी। बात सार्वजनिक होने पर राउत ने स्पष्टीकरण दिया कि वह शिवसेना के मुखपत्र सामना के लिए फड़नवीस का साक्षात्कार करना चाहते हैं। इसी संबंध में उनसे मिलने गए थे। बता दें कि राउत सामना के कार्यकारी संपादक हैं। बाद में भाजपा के प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने कहा कि फड़नवीस ने इस शर्त पर बिहार चुनाव के बाद सामना को साक्षात्कार देने की बात कही है कि उनकी बात बिना संपादित किए प्रकाशित की जाए।

उपाध्ये और राउत दोनों ने कहा है कि इस मुलाकात के राजनीतिक निहितार्थ नहीं निकाले जाने चाहिए लेकिन महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने कहा है कि राजनीति में कुछ भी संभव है। दरेकर गंभीर प्रकृति के नेता हैं। उनके इस बयान को भी अनदेखा नहीं किया जा सकता है।

महाराष्ट्र में पिछले विधानसभा चुनाव के बाद से ही भाजपा और शिवसेना के रिश्ते अच्छे नहीं चल रहे हैं। इसी का परिणाम है कि भाजपा के साथ चुनाव लड़नेवाली शिवसेना ने परिणाम आने के बाद कांग्रेस-राकांपा के साथ मिलकर सरकार बना ली। यह गठबंधन सरकार भाजपा को रास नहीं आ रही है। पालघर में संतों की हत्या का मामला हो या सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत, शिवसेना पर हमलावर होने में भाजपा कोई कसर नहीं छोड़ रही।