Sunday, December 4, 2022
Home POLITICS चुनाव आयोग ने उम्मीदवारों के आपराधिक रिकॉर्ड के प्रचार के सख्त किए...

चुनाव आयोग ने उम्मीदवारों के आपराधिक रिकॉर्ड के प्रचार के सख्त किए मानक, जानें क्‍या हैं नए नियम

चुनाव आयोग ने प्रत्याशियों की आपराधिक पृष्ठभूमि के प्रचार के मानक सख्त कर दिए हैं। आयोग ने चुनाव के दौरान ऐसे विज्ञापनों के प्रकाशन के लिए समयसीमा तय कर दी है।

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग ने शुक्रवार को प्रत्याशियों की आपराधिक पृष्ठभूमि के प्रचार के मानक सख्त कर दिए। आयोग ने चुनाव के दौरान ऐसे विज्ञापनों के प्रकाशन और प्रसारण के लिए समयसीमा तय कर दी है। चुनाव आयोग ने अक्टूबर, 2018 में निर्देश जारी कर यह अनिवार्य कर दिया था कि चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी और उन्हें मैदान में उतराने वाली पार्टियां उनकी आपराधिक पृष्ठभूमि के बारे में चुनाव के दौरान तीन बार टीवी और समाचार पत्रों में विज्ञापन देंगे।

आयोग ने साफ किया है कि आपराधिक रिकॉ‌र्ड्स का पहला प्रचार प्रत्याशी के नाम वापस लेने की अंतिम तिथि से चार दिन के भीतर करना होगा। दूसरा प्रचार नाम वापसी की अंतिम तिथि के पांचवे और आठवें दिन के भीतर करना होगा। तीसरा और अंतिम प्रचार नाम वापसी की अंतिम तिथि के नौवें दिन से प्रचार के अंतिम दिन (मतदान से दो दिन पहले) के बीच करना होगा। आयोग का कहना है कि इस समयसीमा से मतदाताओं को ज्यादा जानकारियों के साथ विकल्प चुनने में मदद मिलेगी।