Wednesday, June 29, 2022
Home POLITICS कृषि कानूनों पर गतिरोध जारी, आज सरकार के प्रस्ताव पर जवाब भेज...

कृषि कानूनों पर गतिरोध जारी, आज सरकार के प्रस्ताव पर जवाब भेज सकते हैं ..

नए कृषि कानूनों के बारे में सरकार और किसानों के बीच की तकरार खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। किसान अपनी मांग से पीछे हटने को तैयार नहीं हैं।

नए कृषि कानूनों के बारे में सरकार और किसानों के बीच की तकरार खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। किसान अपनी मांग से पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। सरकार ने किसानों को बातचीत के लिए आमंत्रित किया है।

किसान संगठन सरकार की ओर से बातचीत के प्रस्ताव को लेकर आई चिट्ठी का आज जवाब भेज सकते हैं। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि किसान संगठन सरकार से बात करने को तैयार हैं या नहीं।

मंगलवार को किसान संगठनों की बैठक बेनतीजा हो रही है

सरकार के प्रस्ताव पर मंगलवार को किसान संगठनों की हुई बैठक भी बेनतीजा हो रही है। किसान संगठन प्रस्ताव को लेकर किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच सके। जानकारी के मुताबिक, कुछ संगठन चाहते हैं कि सरकार से बातचीत आगे बढ़ाई जाए जबकि कुछ संगठन इसको लेकर तैयार नहीं हैं।

ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि आज किसान संगठन सरकार को जो जवाब भेजने वाले हैं उसमें कौन सी बात पर सहमति बनी हुई है।

ब्रिटिश पीएम जॉनसन को रोकने के लिए ब्रिटेन के सांसदों को लिखेंगे पत्र

नए कृषि कानूनों को वापस लेने की अपनी मांग (किसान विरोध) के लिए किसान अब आंतरिक स्तर पर दबाव बनाने की तैयारी में हैं। इस संदर्भ में किसान संगठन ब्रिटेन के सांसदों को पत्र लिखकर अनुरोध कर रहे हैं कि वे अपने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत आने से रोकें।

कृषि कानूनों के खिलाफ आज कांग्रेस का यूपी में प्रदर्शन

किसान नेता और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जन्मतिथि पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस कम आज कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों के समर्थन में उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन करेंगे।

यूपी कांग्रेस कमिटी की ओर से जारी बयान के मुताबिक पार्टी कार्यकर्ता बीजेपी के सांसदों और विधायकों के आवासों / आवास का घेराव करेंगे और किसान विरोधी तीनों काले कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर बीजेपी के जनप्रतिनिधियों के आवास / योजनाओं पर ताली, थाली बजाकर प्रदर्शन करेंगे हो जाएगा।